Latest Posts

अब पाओ डोमेन नेम एकदम फ्री

नमस्‍कार दोस्‍तो, आज हम लेकर आये हैं आप के लिये एक खुशखबरी। हम जल्‍दी ही हिन्‍दी ब्‍लॉगर्स के लिये  एक नि शुल्‍क डोमेन नेम की सुविधा शुरू करनें जा  रहे हैं। जहॉ हम हिन्‍दी ब्‍लॉगर को डॉट इन एक्‍सटेंशन वाला डोमेन फ्री देंगे। यह सेवा हम अपने ब्‍लॉग की पहली सालगिरह 1 जनवरी को शुरू करेगें। हम एक जनवरी को शुरू होने वाले सेवा के अन्‍तगर्त निम्‍न सेवा निशुल्‍क देंगे।


1. फ्री डोमेन नेम (.in)
2. फ्री दो ईमेल एड्रेस

ऐन्‍ड्रायड फोन्स पर पाऐं 100 रूपये का रीचार्ज फ्री (Get Free recharge Of Rs.100)



अगर आप भी अपने ब्‍लॉग के लिये डोमेन रजिस्‍टर कराना चाहते हो तो कमेन्‍ट बॉक्‍स में अपनें ब्‍लॉग का एड्रेस लिख् दें।
हमारी टीम शीघ्र आप से सम्‍पर्क करेगी।

नोट- यह सेवा 20 दिसम्‍बर 2013 तक उपलब्‍ध है। इससे पहले ही अपने ब्‍लॉग का एइ्रेस और अपना इमेल एड्रेस कमेंन्‍ट बॉक्‍स में लिख दें।

11 comments:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा आज रविवार (01-112-2013) को "निर्विकार होना ही पड़ता है" (चर्चा मंचःअंक 1448)
    पर भी है!
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  2. आप की ये सुंदर रचना आने वाले सौमवार यानी 02/12/2013 को नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही है... आप भी इस हलचल में सादर आमंत्रित है...
    सूचनार्थ।

    एक मंच[mailing list] के बारे में---

    अपनी किसी भी ईमेल द्वारा ekmanch+subscribe@googlegroups.com
    पर मेल भेजकर जुड़ जाईये आप हिंदी प्रेमियों के एकमंच से।हमारी मातृभाषा सरल , सरस ,प्रभावपूर्ण , प्रखर और लोकप्रिय है पर विडंबना तो देखिये अपनों की उपेक्षा का दंश झेल रही है। ये गंभीर प्रश्न और चिंता का विषय है अतः गहन चिंतन की आवश्यकता है। इसके लिए एक मन, एक भाव और एक मंच हो, जहाँ गोष्ठिया , वार्तालाप और सार्थक विचार विमर्श से निश्चित रूप से सकारात्मक समाधान निकलेगे इसी उदेश्य की पूर्ति के लिये मैंने एकमंच नाम से ये mailing list का आरंभ किया है। आज हिंदी को इंटरनेट पर बढावा देने के लिये एक संयुक्त प्रयास की जरूरत है, सभी मिलकर हिंदी को साथ ले जायेंगे इस विचार से हिंदी भाषी तथा हिंदी से प्यार करने वाले सभी लोगों की ज़रूरतों पूरा करने के लिये हिंदी भाषा , साहित्य, चर्चा तथा काव्य आदी को समर्पित ये संयुक्त मंच है। देश का हित हिंदी के उत्थान से जुड़ा है , यह एक शाश्वत सत्य है इस मंच का आरंभ निश्चित रूप से व्यवस्थित और ईमानदारी पूर्वक किया गया है। हिंदी के चहुमुखी विकास में इस मंच का निर्माण हिंदी रूपी पौधा को उर्वरक भूमि , समुचित खाद , पानी और प्रकाश देने जैसा कार्य है . और ये मंच सकारात्मक विचारो को एक सुनहरा अवसर और जागरूकता प्रदान करेगा। एक स्वस्थ सोच को एक उचित पृष्ठभूमि मिलेगी। सही दिशा निर्देश से रूप – रेखा तैयार होगी और इन सब से निकलकर आएगी हिंदी को अपनाने की अद्भ्य चाहत हिंदी को उच्च शिक्षा का माध्यम बनाना, तकनिकी क्षेत्र, विज्ञानं आदि क्षेत्रो में विस्तार देना हम भारतीयों का कर्तव्य बनता है क्योंकि हिंदी स्वंय ही बहुत वैज्ञानिक भाषा है हिंदी को उसका उचित स्थान, मान संमान और उपयोगिता से अवगत हम मिल बैठ कर ही कर सकते है इसके लिए इस प्रकार के मंच का होना और भी महत्वपूर्ण हो जाता है। हमारी एकजुटता हिंदी को फिर से अपने स्वर्ण युग में ले जायेगी। वर्तमान में किया गया प्रयास , संघर्ष , भविष्य में प्रकाश के आगमन का संकेत दे देता है। इस मंच के निर्माण व विकास से ही वो मुहीम निकल कर आयेगी जो हिंदी से जुडी सारे पूर्वग्रहों का अंत करेगी। मानसिक दासता से मुक्त करेगी और यह सिलसिला निरंतर चलता रहे, मार्ग प्रशस्त करता रहे ताकि हिंदी का स्वाभिमान अक्षुण रहे।
    अभी तो इस मंच का अंकुर ही फुटा है, हमारा आप सब का प्रयास, प्रचार, हिंदी से स्नेह, हमारी शक्ति तथा आत्मविश्वास ही इसेमजबूति प्रदान करेगा।
    ज आवश्यक्ता है कि सब से पहले हम इस मंच का प्रचार व परसार करें। अधिक से अधिक हिंदी प्रेमियों को इस मंच से जोड़ें। सभी सोशल वैबसाइट पर इस मंच का परचार करें। तभी ये संपूर्ण मंच बन सकेगा। ये केवल 1 या 2 के प्रयास से संभव नहीं है, अपितु इस के लिये हम सब को कुछ न कुछ योगदान अवश्य करना होगा।
    तभी संभव है कि हम अपनी पावन भाषा को विश्व भाषा बना सकेंगे।


    एक मंच हम सब हिंदी प्रेमियों, रचनाकारों, पाठकों तथा हिंदी में रूचि रखने वालों का साझा मंच है। आप को केवल इस समुह कीअपनी किसी भी ईमेल द्वारा सदस्यता लेनी है। उसके बाद सभी सदस्यों के संदेश या रचनाएं आप के ईमेल इनबौक्स में प्राप्त कर पाएंगे कोई भी सदस्य इस समूह को सबस्कराइब कर सकता है। सबस्कराइब के लिये
    आप यहां क्लिक करें
    या  
    ekmanch+subscribe@googlegroups.com
    पर मेल भेजें।
    इस समूह में पोस्ट करने के लिए,
    ekmanch@googlegroups.com
    को ईमेल भेजें
    [आप सब से भी मेरा निवेदन है कि आप भी इस मंच की सदस्यता लेकर इस मंच को अपना स्नेह दें तथा इस जानकारी को अपनी सोशल वैबसाइट द्वारा प्रत्येक हिंदी प्रेमी तक पहुंचाएं। तभी ये संपूर्ण मंच बन सकेगा

    ReplyDelete
  3. आभार आपका..!
    मेरा ब्लॉग http://vasupandey.blogspot.in/

    vasundhara.pandey@gmail.com

    ReplyDelete
  4. http://sbjunej.blogspot.in
    sbjuneja@gmail.com

    Thanks

    ReplyDelete
  5. मेरे 4 ब्लौग
    http://www.kuldeepkikavita.blogspot.com
    http://www.kavita-manch.blogspot.com
    http://www.bhuvansrishti.blogspot.com
    http://www.hinduaurhindustan.blogspot.com
    Email: kuldeepkikavita.blogspot.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. गल्ति से ईमेल गलत दे दी थी, ईमेल kuldeepsingpinku@gmail.com

      Delete
  6. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  7. आभार आपका..!
    मेरा ब्लॉग http://gajabgyan.blogspot.com/

    मेरा इमेल पता gajabgyan@gmail.com

    ReplyDelete
  8. my blog-Dharm-Sansar,

    Mail-id satyendra.sxn@gmail.com

    ReplyDelete
  9. villageracademy.blogspot.in



    villager boy study materils provided for

    ReplyDelete
  10. Khud ka to laga lo admin bhai http://filmokaadda.blogspot.com/

    ReplyDelete